Tranding topics

industrial areas of Jharkhand - झारखंड के ओद्दोगिक क्षेत्र

Industrial areas of  Jharkhand - झारखंड के  ओद्दोगिक क्षेत्र 



नमस्कार दोस्तो आज हम आपको झारखंड के प्रमुख ओद्दोगिक क्षेत्र ओर वे किस उद्दोग से संबंध रखते है एंव वे किस स्थान पर स्थापित है उनके बारे मै पूरी जानकारी देंगे

industrial areas of  Jharkhand - झारखंड के  ओद्दोगिक क्षेत्र


झारखंड के उद्दोग
झारखंड एक खनिज सम्पदा से परिपूर्ण होने के कारण से यहाँ बहुत सारे उद्दोग है जैसे – लोह इस्पात उद्दोग , एलुमिनिउम उद्दोग , तांबा उद्दोग , जस्ता उद्दोग , काँच उद्दोग , चमड़ा उद्दोग , मोटरगाड़ी उद्दोग , इंजीनिरीयिंग  उद्दोग , कोकीग कोयला उद्दोग , कोला धोबन उद्दोग , बारूद्ध उद्दोग , शराव उद्दोग , रिफेक्टरी उद्दोग , हस्त करघा बस्त्र उद्दोग , सूती उद्दोग , तसर उद्दोग , तंबाकू उद्दोग , चावल उद्दोग , लकड़ी उद्दोग , कागज उद्दोग , लुगदी उद्दोग , प्लाईवूड उद्दो, लाह उद्दोग आदि सभी प्रकार उद्दोग झारखंड मै स्थित है इनके बारे नीच विस्तार से बताए गए है





उद्दोग उद्दोगिक केंद्र

  लोह इस्पात उद्दोग
  

  टाटानगर , बोकारो
  

  एल्यूमिनिउम उद्दोग
  

  मुरी ( रांची )
  

  ताँबा उद्दोग
  

  घाटशिला , कोडरमा , जदुगोड़ा
  

  जस्ता
  

  टुंडु
  

  काँच
  

  कतरासगड, अबोना , रामगढ़ ,
  खेलारी , कुमार
  डुब्बी
  

  चमड़ा
  

  रांची
  

  मोटरगाड़ी
  

  जमशेदपुर
  

  इंजीनिरीयिंग
  

  रांची , बोकारो , चन्द्रपुरा , रामगढ़ , गिरिडीह ,कर्णपुरा , साहजोरी , पुचबरा ,
  हतार
  

  कोकिंग कोयला उद्दोग
  

  धनबाद , झरिया , सिंदरी , बनियाडीह
  

  कोयला धोबन उद्दोग
  

  बोकारो , जमाडोबा , लोदना , करगली , दुग्धा , भोजढीह , पाथरडीह, कर्णपूरा
  

  बारूद्ध उद्दोग
  

  गोमिया
  

  शराब उद्दोग
  

  तपुदाना , रांची
  

  रीफेक्टरी उद्दोग
  

  कुमार डुब्बी , चीरकुंडा , मुगगा , झरिया
  

  हस्तकरघा
  

  रांची , हजारीबाग , डालटेन गंज
  

  सूती उद्दोग
  

  गिरिडीह , जमशेदपुर , रांची
  

  तसर उद्दोग
  

  रांची , संथाल परगना , सिंहभूम , पलामू , हजारीबाग
  

  तंबाकू उद्दोग
  

  सराय केला , चक्रधर पुर , संथाल परगना
  

  चावल उद्दोग
  

  साहेबगंज
  

  लकड़ी उद्दोग
  

  सिंघभूम , रांची ,चायबासा ,चक्रधर पुर , हजारीबाग
  

  कागज उद्दोग
  

  संथालपरगना
  

  प्लाईवूड उद्दोग
  

  चाकुलिया
  

  लाह उद्दोग
  

  रांची ,सिंघभूम , हजारीबाग
  

उद्दोगों का महत्व 

जैसे की हमे पता है की झारखंड राज्य का गठन 15 नवम्बर 2000 को हुआ था। झारखंड का गठन का सबसे बड़ा कारण था झारखंड क्षेत्र का विकास लेकिन किसी भी राज्य का गठन करने से ही वहाँ विकास का  नही होता बल्कि उसके लिए सरकार के पास पैसा भी चाहिए जिससे सरकार विकास के कार्यो मै पैसा लगा सके इसके लिए सरकार को tax लेना पड़ता है ओर इस tax को बड़े बड़े उद्दोगों व्दरा ही दिया जाता है एंव ज्यादा से ज्यादा उद्दोग स्थापित होने से उस क्षेत्र के लोगो को रोजगर भी मिलता है   इसी कारण से उद्दोग होना बहुत ही जरूरी होता है इसीलिए  तब से लेकर  अब तक झारखंड मै बहुत सारे उद्दोग स्थापित किए गए है 


इन्हे भी पढे

हमे आशा है आपको हमारे पोस्ट से बहुत सारा ज्ञान अर्जित हुआ होगा । आपको अगर इसी तरह की daily  current affairs के पाठ पढ़ना अच्छा लगता है तो हमरे वैबसाइट के साथ जुड़े रहे एंव हमरे व्दारा लिखे हुये पोस्ट अगर आपको अच्छा लगता है तो इसको Share करे एंव अगर आपको इस तरह के महत्वपूर्ण जीके क्वेस्शन्स के पीडीएफ़ Download करना है तो नीचे दिये हुये कमेंट बॉक्स पर कमेंट करे

हम आशा है की आपको हमारे इस पोस्ट से बहुत सारा ज्ञान अर्जित हुआ होगा । अगर आपको इस तरह की educational  से संबन्धित पाठ चाहिए तो आप हमारे website - www.examideas.in से जुड़ें रहे । धन्यबाद 



No comments

Note: Only a member of this blog may post a comment.