Tranding topics

Jharkhand ke Rajyapal

Jharkhand ke Rajyapal -झारखंड के राज्यपाल 

आज हम आपको Jharkhand ke Rajyapal उनका कार्यकाल यानि वे कब से कब तक सेवा मै थे ,वे किस धर्म से थे । ओर झारखंड के छात्र एंव छात्राओ को उनके बारे मै जानने के फायदे एंव नुकसान किया हो सकता है । आज हम अपने पोस्ट इसके हर पहलू के बारे चर्चा करेंगे ओर अंत मै आपको ये भी बताएँगे की ये आपकी सरकारी नोकरी की सफलता दिलाने मै कैसे मदद कर सकते है ।
jharkhand ke Rajyapal -झारखंड के राज्यपाल


झारखंड के राज्यपाल 
झारखंड राज्य का गठन 15 नवम्बर 2000 को हुआ था । ओर तब से अब तक लगभग झारखंड को 9 राज्यपाल मिल चुके है


झारखंड के राज्यपाल एंव उनका कार्यकाल 


1 प्रभात कुमार :- प्रभात कुमार झारखंड के पहले राज्यपाल थे उनका कार्यकाल 15 नवम्बर 2000 से 03 फरवरी  2002 तक था।
2 विसी पांडेय :- 04 फरवरी 2002 से लेकर 14 जुलाई 2002 तक था , विसी पांडेय झारखंड के दूसरे राज्यपाल  हे।
3 एम रामा  :- 15 नवम्बर 2002 से 11 जून 2003
4 वेद मरवाह : 12 दिसम्बर 2003 से 09 दिसम्बर 2004
5 सेय्यद सिब्ते रजी :- 10 दिसम्बर 2004 से 23 जुलाई 2009
6 कातिकल संकरानारायन :- 24 जुलाई 2009 से 21 जनवरी 2010
7 एम ॰ ओ ॰ एच॰ फारुक :- 22 जनवरी 2010 से 3 दिसम्बर 2011
8. डॉ सेय्यद अहमद :- 4 सिटिम्बर 2011 से 15 मई 2015
9 द्रोपदी मुर्मु ;- 18 मई 2015 से अब तक । 

झारखंड के प्रथम राज्यपाल 

हम आपको ये स्पस्ट कर देना चाहते है की प्रभात कुमार झारखंड राज्य के प्रथम राज्यपाल थे । उनका कार्यकाल 15 नवम्बर 2000 से फ़रवरी 2002 तक था ।

झारखंड के प्रथम मुस्लिम राज्यपाल 


झारखंड के प्रथम मुस्लिम राज्यपाल सेयद सिब्ते रजी थे उनका कार्यकाल 10 दिसम्बर 2004 से 21 जुलाई 2009 तक था । आपको ये स्पस्ट कर देना चाहते है की सेयद सिब्ते रजी झारखंड के प्रथम मुस्लिम राज्यपाल होने के साथ साथ वे झारखंड के राज्यपाल ते स्थान पर  सबसे अधिक समय तक रहने वाले अबतक पहले राज्यपाल है ।


झारखंड के प्रथम आदिवासी राज्यपाल

झारखंड के प्रथम आदिवासी समुदाय से सम्बन्ध रखने वाली प्रथम राज्यपाल द्रोपदी मुर्मु है उनका कार्यकाल 18 मै से अब तक है ओर वे झारखंड के प्रथम महिला राज्यपाल है ।

झारखंड के  छात्र एंव छात्राओ को इनके बारे मै जानने के फायदे एंव नुकसान 

झारखंड के  छात्र एंव छात्राओ को इनके बारे मै जानने के फायदे निम्नलिखित है – झारखंड के छात्र होने के कारण से उनको झारखंड के राज्यपाल के बारे मै जानना तो बहुत जरूरु है । ये उनकी genral knowledge को बढ़ता है उनको इससे बहुत सारे फायदे है जैसे अगर वे कभी झारखंड सरकार के निकालने वाले exams को देने जाते है तो उनके exams मै ये निश्चित है एक क्वेस्चन जरूर आ सकता है ओर झारखंड के छात्र एंव छात्राओ को अगर इनके बारे मै सही जानकारी नहीं होगा तो वे झारखंड सरकार के अधीन निकालने वाले पदो की भर्तियों मै होने वाले exam मै फ़ेल भी हो सकते है इसलिए झारखंड के छात्र एंव छात्राओ को इनके बारे मै जरूर  पढ़ना    चाहिए ।


हमे आशा है की आपको हमरे इस  पोस्ट से बहुत सारा ज्ञान अर्जित हुआ होगा । अगर आपको झारखंड ओर झारखंड अकेदेमिक काउंसिल से संबन्धित विषयो के बारे मै जानना है तो आप हमरे website :- www.examideas.in से जुड़ें रहे । धन्यबाद    









1 comment:

Note: Only a member of this blog may post a comment.